April 2012 archive

होमिअपैथी का अनन्त आकाश

Ateet Ka Jharokha

समुचित होमिअपैथी औषधि-उपचार से रोग-मुक्‍ति तो होती ही है, व्यक्‍ति की दबी-छिपी मानसिक और बौद्धिक योग्यताओं के निखार में भी मदद मिलती है। और तब वह अपनी शारीरिक, मानसिक और बौद्धिक क्षमता के शिखर को छू सकता है। राष्‍ट्र के विकास का यह ऐसा महत्वपूर्ण पहलू है जिसकी भूमिका अभी तक आँकी ही नहीं गयी है। Continue reading

सब कुछ फ़िक्स है, भारत!

बन्दा जब तोप से पिटा था तब तो फ़ेमिली के लिए कुछ-कुछ गुञ्जाइश बचा पाया था। लेकिन ट्रक का हमला, लगता है, लास्ट पंच साबित होगा। यों, फेमिली पुराने चावल की मानिन्द परफ़ैक्‍ट टंच है। रास्ते निकाल ही लेगी। Continue reading